महाशिवरात्रि पर इस तरह भगवान शिव को करे प्रसन्न, बिगड़े काम बनेंगे, मनोकामना होगी पूरी

हिन्दु धर्म में महाशिवरात्रि हिन्दुओं का सबसे बड़ा पर्व माना गया हैं। फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथी यानि की 21 फरवरी को भोलेबाबा का पर्व धूमधाम से देशभर में मनाया जाएगा।

हिन्दु धर्म में महाशिवरात्रि हिन्दुओं का सबसे बड़ा पर्व माना गया हैं। फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथी यानि की 21 फरवरी को भोलेबाबा का पर्व धूमधाम से देशभर में मनाया जाएगा। भगवान शिव इसी दिन प्राकटय हुए थे। इतना ही नहीं शास्त्रों की माने तो शिव जी का विवाह भी इसी दिन हुआ था। शिवरात्रि के दिन भगवान की सच्चे दिल से पूजा करने व उन्हें प्रसन्न करने पर भक्तों की सारी परेशानियां दूर होती हैं। इस बार की शिवरात्रि खास मानी जा रही है क्योंकि इस बार शिवरात्रि पर 117 सालों बाद ग्रहों का दुलर्भ संयोग बन रहा है। तो चलिए इस बार की महाशिवरात्रि के दिन पूजा करे की विधि व भोलेबाबा को प्रसन्न करें इस बारें में जानते है।

शिवरात्रि का मुहूर्त
शिवरात्रि की शुभ मुहुर्त 21 फरवरी को शाम 5 बजकर 20 मिनट से 22 फरवरी को शाम 7 बजकर 2 मिनट तक रहेगा। रात की पूजा का समय 21 फरवरी को साम 6 बजे 41 मिनट से रात 12 बजकर 52 मिनट तक है।

इस तरह करें भगवान शिव की पूजा

  • महाशिवरात्रि के दिन सुबह उठकर साफ कपड़े पहन व्रत का संकल्प ले। शिव के जलाभिषेक करें और उस समय शिवलिंग को अपने हाथों से अच्छी तरह से स्पर्श करें
  • जलाभिषेक के समय तांबे के लोटे में जल के साथ गंगाजल जरूर मिलाए।
  • इसके बाद आप चावल, बेलपत्र, पुष्‍प, धतूरा, भांग, बेर, तुलसी दल, कच्‍चा दूध, गन्‍ने का रस दही, शुद्ध देसी घी, शहद, पंच फल,पंच मिष्‍ठान एक-एक कर चढ़ाएं।
  • महाशिवरात्रि के दिन शिव पुराण का पाठ व महामृत्युंजय मंत्र या शिव के पंचाक्षर मंत्र “ॐ नमः शिवाय” का जाप अवश्य करें।
  • कपुर से आरती करें व प्रसाद जरूर बांटे।
  • शाम को मंदिर में दिया जरूर जलाएं।

महाशिवरात्रि व्रत की विधि
व्रत रखने वाले भक्तों को शिवरात्रि से एक दिन पहले केवल एक ही समय का भोजन करना चाहिए। अगले ही दिन शिवरात्रि के दिन व्रत का सकंल्प लेना चाहिए। शाम को पूजा के समय इस बात का खास ख्याल रखें की आप स्नान कर ले शिव जी के आगे दिया जलाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close